INTERNET KO HINDI ME KYA KAHT HAI (इंटरनेट किसे कहते है) 2021

इंटरनेट इस आधुनिक युग का संचार और सूचना के आदान प्रदान क्रनेका एक सरल और अनोखा साधन हे।

इंटरनेट एक विश्व लेवल से जुड़ा होता है जिसमे लाखो कंप्यूटर जुड़े होते है। इंटरनेट में जितने भी उपकरण जुड़े होते है वह एक साधारण टेलीफोन के केबल से जुड़े होते है। इंटरनेट किसी कंपनी या प्राइवेट या गवर्मेनेट या देश के आधीन नही होता। बल्कि ये बोहोत सारे सर्वर पर चलता है जो कि अलग अलग देशों में होते है।

  • INTERNET KO HINDI ME KYA KAHT HAI

अगर आप भी मेरी तरह एक स्मार्ट फोन या आईफोन यूजर है तो आपभी अपने रिश्तेदार या दोस्तो को मेसेज करने या वीडियो कॉल करने या फिर कोई जरूरी संदेश के लिए whatsapp और Facebook तमाम इस तरह की application का उपयोग करते है या कोई और सुविधाओ के लिए भी इंटरनेट जरूर इस्तेमाल करते होगे । जैसे की आप सब जानते है की आज के जमाने में इंटरनेट एक हमारी जिंदगी की एक मूलभूत आवश्यकता बन चुका है लेकिन क्या आपने कभी सोचा ही की आपके द्वारा यूज किए जाने वाले शब्द इंटरनेट को हिंदी में क्या कहते है।।

#टेक्निकली देखा जाए तो इंटरनेट का हिंदी मतलब होता है “अंतरजालयानी एक सूचनाओका ऐसा भंडार या तंत्र जहा पर आपको कही भी बैठे हुए बहुत आसानी से कोई भी जानकारी मिल जाती है।या आपकी बोहोत सारी समस्याओं का समाधान मिल जाता हे। इंटरनेट का जाल आज पूरी दुनिया में फेल चुका है दुनिया में शायद ही कोई ऐसी जगह बाकी होगी जहा इंटरनेट ना यूज किया जाता हो । इसलिए इंटरनेट एक जानकारी का खजाना बन चुका है।

#जब भारत में शुरुआती दिनों में जब लोगो li पहोंच इंटरनेट तक बोहोत कम हुवा करती थी तब भारत में भी इंटरनेट को हिंदी में इंटरनेट ही कहा जाता था ।ये वो दौर था जब इंटरनेट पर कुछ ही लोगो की पहुंच हूवा करती थी और जिन अंग्रेजी पसंद हुवा करती थी। कुछ वक्त बाद जब भारत में भी इंटरनेट की संख्या बड़ने लगी तो इंटरनेट के लिए एक नया शब्द अंतरजाल बनाया गया जो पुराने शब्द इंद्रजाल के ऊपर से बनाया गया था तो अब हम सब internet ko hindi me lya kahte hai के जवाब में “अंतरजाल” कह सकते है!

INTERNET KO HINDI ME KYA KAHT HAI
INTERNET KO HINDI ME KYA KAHT HAI
  • भारत में इंटरनेट की शुरुआत कब हुई

भारत में इंटरनेट की शुरुआत कुछ १५ aug साल १९९५ में की गई थी पर उसे १५ aug को शुरू किया गया था।विदेश संचार निगम एलटीडी अपने अपने टेलीफोन लाइन ब्रांडबेंड के जरिए दुनिया से भारत के कंप्यूटर को पहली बार जोड़ा था और भारत में एक नए युग की शुरुआत हुई। स्टार्टिंग में सिर्फ २० या ३० ही कंप्यूटर इंटरनेट से जुड़े हुए थे। और इसकी स्पीड भी बोहोत कम थी इस वक्त कुछ से १० kbps की स्पीड से लोग काम चला रहे थे। शुरुआत के दिनों में सिर्फ इंपॉर्टेंट महितिया ही इससे आदान प्रदान करने के लिए की जाती थी जिसमे सिर्फ कुछ स्कूल और कॉलेज ही जुड़े हुए थे।

#भारत में आज इंटरनेट की सुविधा कोने कोने में है और बोहोत ज्यादा लोग इस आधुनिक तकनीक का उपयोग करते ही । इस नए सर्वे के मुताबिक भारत में इंटरनेट की avg speed mbps है। जब के ये स्पीड सभी राज्यों और जगहों के लिए समान नहीं है। कही कही तो आज भी इंटरनेट की स्पीड वही कछुए जैसी है। एक अहेवाल के अनुसार आज भारत की इंटरनेट के मामले में ११७ वे नंबर पर है।

INTERNET KO HINDI ME KYA KAHT HAI
INTERNET KO HINDI ME KYA KAHT HAI

ALSO READ THIS

डोमेन नाम खरीदने के कितने पैसे लगते है?

Leave a Comment